गुरुवार, 15 दिसंबर 2011

क्षणिकाएँ -- जन लोकपाल

क्षणिकाएँ 

जन लोकपाल  


सरकारी कयास,
जनता के,
फोड़ लो- कपाल,
अन्ना के प्रयास-
जन लोकपाल .



सम्पूर्ण भ्रष्टाचार,
नहीं मिटा सकता,
जन  लोकपाल.
इसलिए -
सरकार चाहती है लाना,
low -कपाल .


जन लोकपाल के
अर्ध  विराम,
मंजूर नहीं है.
उभर रही है,
आम सहमती ,
लग जाए ,
पूर्ण विराम.
 






  

कोई टिप्पणी नहीं: