शुक्रवार, 10 फ़रवरी 2012

आतंकवादियों के लिए आंसू बहाते नेता


जो लोग देश के साथ गद्दारी करते हैं ,देश में उत्पात मचाते हैं ,आतंकवाद फैलाते हैं ,उनके लिए 
कांग्रेस अध्यक्ष रोती है ,जो जवान देश के दुश्मनों से अपनी जान की बाजी लगाकर संघर्ष करते 
हैं उनको लिए जांच बैठा दी जाती है ...कैसी राजनीती हो गयी है ...क्या करोडो हिन्दुस्थानियो 
में कोई देशप्रेमी  नेता ही नहीं बचा है ,क्या सब के सब वोटो के दीवाने हो गए हैं ?
हे देश वासियों ,क्या ऐसे लोगो के पक्ष में मतदान करके आप देश के साथ धोखा नहीं कर रहे हैं ?
देश का गृहमंत्री कहते हैं की बाटला काण्ड का एनकाउन्टर सही था मगर कानून मंत्री कहते हैं 
की वे तो आतंक फैलाने वाले नहीं थे ..!! उनको मारने से सोनिया रोई ...!!..कैसी सरकार ..!!!
किसकी बात सही माने हिंदुस्थानी !!!
अगर आतंकवादी को मारने के पर किसी जवान पर जांच बैठाई जाए तो कौन जवान देश के 
लिए शहीद होगा ?क्योंकि दुश्मनों को मारने से हमारे देश के नेता रो पड़ते हैं !!!देश को अस्थिर 
करने वाले लोग यदि किसी कौम विशेष के आतंकवादी हैं तो हमारे अभागे नेता उनके पक्ष में 
आ जाते हैं क्योंकि उसके पास भी एक वोट हैं और हमारे बेशर्म नेता उस एक वोट के लिए 
देश  को भारत माता के चीर को तार-तार होते देखते हैं    ..........  !!
यह देश का ख़राब समय है की इस देश पर वोटो के लालची ,झूठे,देश हित से परहेज करने वाले 
लोग शासन कर रहे हैं .क्या लोकतंत्र का अर्थ सिर्फ वोट ही रह गया है ?
जब तक देशवासी सोते रहेंगे तब तक ऐसा ही चलेगा .जवान गोलियों का शिकार होते रहेंगे 
उनकी औरतें विधवा रोती रहेगी ,उनके बच्चे बहादुर बाप की लाश पर बिलखते रहेंगे और 
हमारे शासक उनकी लाशो पर भी राजनीती करते रहेंगे. 
क्या अब भी सहन करते रहेंगे .....जिस बस्ती के लोग गूंगे और बहरे हो जाते हैं उस बस्ती का 
नामोनाशान मिट जाया करता है ......अपने देश प्रेम के जज्बे को जिन्दा रखिये .यह सुभाष ,
आजाद,भगत का देश है ,यह बिस्मिल का देश है ,यह विवेकानंद की भूमि है ,यह शिवाजी की 
आन है ,यह प्रताप की शान है .इस भूमि को नापाक इरादे वाले नापाक लोगों से बचाना हम 
सब का काम है इसे अकेले अन्ना पर मत छोड़ दीजिये,इसे अकेले स्वामी पर मत छोड़ 
दीजिये ...........

कोई टिप्पणी नहीं: