गुरुवार, 4 अप्रैल 2013

दे सेर को सवा सेर ........

दे सेर को सवा सेर ........

जब-
सत्याग्रह
अहिंसा 
सच्चाई
सुविचार
विनय
आग्रह
उपवास
उपाय 
सब व्यर्थ हो जाये 
और 
लक्ष्य दूर खिसकता जाए, 
तब-
अविलम्ब आजमाना,
आचार्य चाणक्य की टेर, 
दे सेर को सवा सेर-2 

---------------------------------------

जब-
नेता शुकुनि सा लगे 
गुरु द्रोण सा लगे 
राजा धृतराष्ट्र सा लगे 
नाता कंस सा लगे
छल रावण सा लगे
मित्र जयचंद सा लगे
तब -
नीति से करना परहेज 
और 
आजमा ले चाणक्य की टेर  
दे सेर को सवा सेर-2      
       

कोई टिप्पणी नहीं: