सोमवार, 10 जून 2013

फाइल ........!!

मीलों चले ........!!

नेताजी बोले - हम मीलों चले और चलेंगे ........!!
जनता -मगर हम पहुंचे कहाँ ?
नेताजी - रुको ,मैं सामने घाणी चला रहे तेली से पता करके आता हूँ ...
जनता -तेली को कैसे पता ...?
नेताजी -वो दिन भर बैल चलाता है ना भाई  ....हमारा भी बता देगा ...!!
--------------------------------------------------------------------
नेता का नजरिया  ................!!

नेताजी - आप लोग दिल और विचार उच्च रखें .....
जनता -मगर महंगाई ...?
नेताजी-अरे,सबको चीज के दाम ज्यादा चाहिए और कुछ नहीं ...
जनता -घोटाले ....?
नेताजी -किसी न किसी का भला करने को घोटाला मत कहो ..
जनता-बेरोजगारी .......?
नेताजी -कोई घर आराम कर रहा है तो दुखी क्यों हो भाई ...!!
------------------------------------------------------------------------

विकास ......!!

नेताजी -मुझे ही वोट करें ,क्योंकि असल में विकास हम ही करते हैं
जनता - वो तो सही है मगर हमारा कब होगा?
नेताजी -छोटे विचार मत रखो,मेरा विकास देश का विकास और देश
              का विकास ही तेरा विकास ....
----------------------------------------------------------------------------

फाइल ........!!

नेताजी -देश विकास कर रहा है ,सड़के बनी .....
जनता -कहाँ .....?
नेताजी - फाइल में दिखा देंगे !...और कुए भी खुदवाये .....
जनता -....पर कहाँ ...
नेताजी-फाइल में देखना ...और गारंटी से मजदूरी भी दी ...
जनता -किसे ....
नेताजी -फाइल में ...और रेल भी चली ...
जनता - ....कहाँ से कहाँ को ....
नेताजी - तेरे गाँव से शहर तक ...
जनता -मगर गाँव में तो पटरी ही कहाँ है ?
नेताजी- पटरी है,सबुत चाहिए तो देख लेना फाइल में ..!!
---------------------------------------------------------------------























कोई टिप्पणी नहीं: