बुधवार, 5 मार्च 2014

वोट देने से पहले …………

वोट देने से पहले  …………

वोट देने से पहले हिन्दुस्तानियों इतना जरुर सोचना कि -

80 %भारतीयों की थाली में भर पेट खाना क्यों नहीं हैं।?

पढ़े लिखे बेरोजगारों की कतार लम्बी क्यों होती जा रही है ?

जनता गरीब और नेता और बड़े अधिकारी बिना काम किये 
पूंजीपति कैसे बनते जा रहे हैं ?

किसान अपने उत्पाद आलू ,प्याज और गन्ने को क्यों बहुत 
बार अपने हाथों से नष्ट करने को मजबूर हो जाता है ?

देश के कर के पैसे का जिसने गबन किया क्यों आज तक उस 
नेता से देश की तिजोरी से निकला पैसा वापिस वसूल नहीं किया गया ?

क्यों योग्य अर्थशास्त्री के प्रधानमंत्री होते हुए देश की तिजोरी लूटती रही ?

FDI को रिटेल में खड़ाकर सरकार किसके हित में काम कर रही है ?

देश की सीमाओ पर सैनिक किसके पाप से सिर कटी लाश बने थे ?

देश में अन्य देशो के नागरिक अवैध रूप से भारत में क्यों जड़े मजबूत 
किये हुए हैं ?

देश में ज्यादातर अपराध अ -धर्मनिरपेक्षता के हाथों से क्यों हो रहे हैं ?

देश के हिन्दू यदि सांप्रदायिक हैं तो अ -धर्मनिरपेक्ष यहाँ क्यों टिकना चाहते हैं ?

धर्म के नाम पर कट्टरता को कौनसे दल शह देते हैं और उससे किसका 
हित सध रहा है ?

स्तरहीन शिक्षा और रट्टा मार पढाई क्यों जारी रखी जा रही है ?

बिना पढ़े लिखे व्यक्ति को हम वोट देकर संसद में क्यों भेजते रहते हैं ?

इस देश को वर्त्तमान में न्याय व्यवस्था बचा रही है या सरकार ?

देश की 30 %से ज्यादा आबादी मतदान करने की बजाय उस महत्वपूर्ण 
दिन में भी सोना या केवल बहस करने का कर्त्तव्य क्यों निभाना चाहती है ?

 वोट जरुर करे और वोट देने से पहले ये सवाल खुद की आत्मा से जरुर करे 
ताकि आप सही और योग्य व्यक्ति को संसद में भेजने का गौरव पा सकें।    

कोई टिप्पणी नहीं: