शनिवार, 3 मई 2014

सब दलों का प्रमुख मुद्दा मोदी विरोध ही क्यों ?

सब दलों का प्रमुख मुद्दा मोदी विरोध ही क्यों ?

देश मतदान के अन्तिम पड़ाव पर है ,सभी दल एक ही उद्देश्य लेकर खड़े हैँ -मोदी
नहीं आना चाहिये ,क्या कारण है इतनी बड़ी कसरत करने के पीछे ?

1. क्या मोदी के आ जाने से इनके नकली मुखोटे उतर जाएँगे और असली चेहरा  देश
के सामने आ जायेगा जिसे देखने के बाद इनकी दूकानें बन्द हो जायेगी।

2. क्या वास्तव मे सबसे बड़े भ्रष्टाचारी लोग इन्ही नेताओं मे से है जिन्होंने देश
के धन को लूट कर विदेशों मे जमा कर रखा है और मोदी के आने से विदेशों मे
छुपाया गया धन भारत के खजाने में आ जायेगा और ये काँव -काँव मचाने वाले
नेता सलाखों में होंगे और इनकी पीढ़ियाँ कंगली हो जायेगी।

3. क्या मोदी के आने से देश के लोग अपने भारतीय होने पर गर्व महसूस करने
लगेंगे और तुष्टिकरण,जातिवाद और छद्म धर्म निरपेक्षता का दौर मटियामेट हो
जायेगा और लूले-लँगड़े नेता अपने बोरियाँ -बिस्तर बाँध कर वनवास को स्वत:
स्वीकार कर लेंगे।

4. क्या मोदी युग के उदय होने के बाद काली राजनीति करने वाले नेताओ के
काले और घिनौने कारनामो से पर्दाफाश हो जायेगा और देश गुज़रात की प्रजा
की तरह सालों तक मोदी के पीछे एकजुट खड़ा हो जाएगा।

5. क्या विदेशी ताकतें जो अभी तक भारत को अस्थिर करने के प्रयत्न मे लगी
रहती है उन पर नकेल कस दी जायेगी और भारत सशक्त बन कर विकास के
नये इतिहास लिखने की ओर आगे बढ़ जायेगा।

6. क्या देश का धन गरीबों पर वास्तव मे रुपया मे से रुपया ख़र्च होने लग जायेगा
जो अभी तक नेताओ ,अफसरों की तिकड़मबाजी से 85 पैसा जितना बीच में ही
लूट लिया जाता था।

7. क्या मोदीयुग आ जाने पर देश की सँपदा पर चलती आ रही लूट खसोट खत्म
हो जायेगी और अब तक के पापियों के कर्मों का लेखाजोखा बिना लाग -लपेट के
त्वरित गति से होगा।

8. क्या मोदीयुग से मुखौटे सेनापति खडे करने की दुषित प्रणाली अवशिष्ट और
महत्वहीन हो जायेगी और धूर्त नेताओं की फौज सदा -सदा के लिए विसर्जित
हो जायेगी।

9. क्या मोदीयुग आने से आतंकी लोग अनँत नींद मे सो जायेंगे और सैन्य बल
मुस्तैद होकर हिम्मत से खड़ा हो जायेगा। 

देश एक बदलाव की ओर चल पड़ा है जिसका रुकना नामुमकिन है , जैसे -जैसे
मोदी की परीक्षाएँ होती जायेंगी वैसे -वैसे देश की जनता मोदी के पीछे लामबंध
होती जाएँगी ,मोदी अपने विरोधियों के कारण इस अन्तिम पड़ाव मे और मज़बूत
होकर उभरेंगे। जब चर्चा होगी -मोदी युग क्यों आया ,तब सबसे बड़ा काऱण मोदी
का सब दल मिलकर एक स्वर मे मोदी विरोध करना होगा।  

कोई टिप्पणी नहीं: