शनिवार, 17 मई 2014

अच्छे दिन लाने के लिए ....

अच्छे दिन लाने के लिए  .... 

देश झूठी तुष्टिकरण और वंशवाद की राजनीति से आजाद होकर राष्ट्रवादी शक्तियों के
हाथ में है। देश ने महात्मा गाँधी की इच्छा का सम्मान करते हुए काँग्रेस के पतवार
को उखाड़ फेंका है। अब हम सशक्त भारत के लिए तैयार हैं। मोदी के हाथ में भारत
का भविष्य है और लोगों की मोदी से जुडी आशायें हैं। मोदी से आम भारतीय क्या
चाहते होंगे -
1. गरीब वर्ग को उन्नति के अवसर -आज तक हम केवल जाति की राजनीति
देखते आये हैं। जन्म के आधार पर हमने स्वर्ण जाति को उच्च मान लिया है भले
ही उसके जीवन में अँधेरा रहा हो ,हम चाहते हैं कि हर भारतीय के लिए गरीब की
परिभाषा एक ही हो और वार्षिक न्यूनतम आय से गरीबी का निर्धारण हो।

2. देश विरोधी ताकतों का नेस्तनाबूद हो -देश की सीमाएँ सुरक्षित हो और जवान
अत्याधुनिक शस्त्रों से संपन्न और अधिकार युक्त हो। देश के अंदर और बाहर
उपद्रवी और आतंकी तत्व नष्ट हो।

3. देश के लघु उद्योग क्षेत्र का जोरदार विकास हो और उन्हें पनपाने के लिए गैर
जरुरी मदो का आयात बंद हो तथा लघु उद्योगों को सस्ते दर पर ऋण उपलब्ध
हो। बड़े उद्योगों को सब्सिडी में कमी हो।

4. शिक्षा और स्वास्थ्य सेवायें - शिक्षा नीति में आमूलचूल परिवर्तन हो और शिक्षा
रोजगार लक्षी हो। स्वास्थ्य सेवाओं का गाँवों तक विस्तार हो। शिक्षा और स्वास्थ्य
सेवाओं की गुणवत्ता की नियमित जाँच हो।

5. अनावश्यक योजनाएँ बंद हो - लोकलुभावन योजनाओं पर खर्च बंद हो। मनरेगा
में केवल ग्रामीण महिलाओँ और 40 वर्ष से ऊपर के पुरुष को काम दिया जाये और
काम भी क्षेत्र की जरुरत के अनुसार तय हो। मनरेगा ने युवा ग्रामीण समुदाय की
सोच को कमजोर बना दिया है ,ग्रामीण युवाओं को कुशल कार्य का मुफ्त प्रशिक्षण
मिले ताकि उसके जीवन स्तर में सुधार हो और वह पुरुषार्थी बने।

6 मुफ्त भोजन की सुविधा - निराश्रित बच्चे ,अनाथ,विकलांग,वृद्ध और बीमार अशक्त
 लोगों के लिए ही सस्ता या मुफ्त भोजन उपलब्ध हो बाकी गरीब वर्ग को बाजार मूल्य
से 25 %खाद्य सब्सिडी हो ताकि नागरिक मुफ्त की सरकारी रोटी तोड़ने का आदी ना
बन सके।

7. टैक्स में सुधार - कर व्यवस्था में सुधार हो ,सेवा कर आवश्यक मदों से पूर्णत:
हटाया जाए और उसे विलासिता की मदों तक सीमित किया जाये। आयकर के
स्लेब में सुधार हो और पाँच लाख की वार्षिक आय कर मुक्त हो। काले धन पर
अंकुश लगे ऐसी सरल और व्यवहारिक कर प्रणाली को विकसित किया जाए।

8 न्याय व्यवस्था में सुधार -लचर हो रही न्याय व्यवस्था में सुधार हो और विलम्ब से
न्याय मिलने की पद्धति में सुधार हो। बड़े और रसूखदार अपराधियों के मामले
त्वरित कोर्ट में चले और शीघ्र निर्णय हो।

9. सरकारी दफ्तरों में कार्य के घंटे बढ़ाये जाए - सरकारी छुट्टियों में कमी की जाए
और काम के घंटे तथा शिफ्ट बढ़ायी जाए।

10. भ्रष्टाचार पर अंकुश - भ्रष्ट अधिकारियों पर भारी आर्थिक दंड और सजा हो,ज्यादा काम
करने वाले अधिकारी को विशेष पैकेज दिया जाए।      

कोई टिप्पणी नहीं: