बुधवार, 10 दिसंबर 2014

कोई शक

कोई शक 
भारत के मुस्लिम विश्व के सब देशों से ज्यादा अधिकार सम्पन्न है इस बात
में शक की गुँजाइश है क्या ?

भारत के बाहर मुस्लिम राष्ट्रों में रहने वाले हिन्दुओं को कितने अधिकार मिले
हैं इस सच को सब जानते हैं !!

क्यों तथाकथित धर्मनिरपेक्ष नेता हिन्दुओं के अधिकारों के बारे में संघर्ष नहीं
करते हैं और देश के मुस्लिम वर्ग को जान बुझ कर तुष्टिकरण और उन्माद की
राह पर ले जाना पसन्द करते हैं ?

देश फैसला करता जा रहा है,फिर भी नासमझ नेता खोटे धर्मनिरपेक्ष वाद में
संगठित होकर डूबते जा रहे हैं,देश इनके चेहरों पर छिपे स्वार्थ और मक्कारी
को बारीकी से पढ़ना सीख गया है और सर्वधर्म समभाव के रास्ते पर चल पड़ा है।

देश के ओछे राजनीतिज्ञों! ये बचकाना हरकत बंद करो और सकारात्मक
विचार से राष्ट्र हित के लिए कर्म करो वरना भारत केवल काँग्रेस मुक्त ही
नहीं बल्कि एक ही पार्टी का देश बन जायेगा,इस बात में संदेह नहीं है।   

कोई टिप्पणी नहीं: