मंगलवार, 3 फ़रवरी 2015

पुण्य वाणी से-

पुण्य वाणी से-


आज तक हमने उनको सहा पर आज 10 तक में पुछ ही लिया-


AAP की दिल्ली में बुरी तरह भद्द

पीटने का एक मुख्य कारण कौनसा होगा?


वो बोले- देखो जी, हमारे चक्र में कोई कमी नहीं थी । 10 दिन से 10 तक में आम आदमी को सिलसिलेवार यही ककहरा पढाया  कि AAP दिल्ली में 10तक दे रही है । पर क्या करें जब परत दर परत प्याज की तरह इस आवाम ने पुरी 12तक की पोल खोल के रख दी । 

खुद भी सर्वश्रेष्ठ बनने के चक्कर में डूबे ओर हमारी TRP से भी हम सर्वश्रेष्ठता का ताज डुबो बैठे । 


अौर एक प्रमुख ब्रेकिंग न्युज-


वो तो 10 को 9-2-11 हो लेंगे पर हमरा क्या होगा? यह सोच के लगता है झुनझुना थमाने के बदले वह झुनझुना मुझे झुनझुना थमा गया जी!!!

कोई टिप्पणी नहीं: